मुख्य पृष्ठ
क्या है राज सैनिक
विभागीय सूचनाएं
योजनायें एक नजर में
फॉर्म्स डाउनलोड
सैनिक विश्रामगृह
ईसीएचएस पॉलीक्लिनिक
केंटीन सुविधा
टेलीफोन निर्देशिका
सैनिकों का कौना



विभाग से सम्बन्धित अन्य वेबसाइट
Click to visit website

जिला सैनिक कल्याण अधिकारी के पद हेतु विज्ञापन एवं आवेदन प्रपत्र

युद्ध विधवा छात्रावास में प्रवेश हेतु आवेदन पत्र एवं शपथ पत्र

सूचना का अधिकार प्रपत्र
Back

रक्षा मंत्री विवेकाधीन निधि

 

 

इस निधि से निम्नलिखित आर्थिक सहायता हेतु आवेदन पत्र जिला सैनिक कल्याण कार्यालयों के माध्यम से प्रस्तुत किए जा सकते हैं -

(क)   वृद्ध क्षीण पूर्व सैनिकों / पत्नियों को दो वर्षो के लिए रूपये 2000/- प्रतिमाह।

(ख)   पूर्व सैनिक / निर्धन सैनिक विधवा की पुत्री की शादी हेतु रूपये 16000 की आर्थिक सहायता।

(ग)   पूर्व सैनिक / निर्धन सैनिक विधवा व 100 प्रतिशत अपंग भूतपूर्व सैनिक व भूतपूर्व सैनिकों के अनाथ बच्चों को मकान के मरम्मत हेतु रूपये 20000/- की आर्थिक सहायता (जिनका मकान आपदा में क्षतिग्रस्त हो गया हो)

(घ)   चिकित्सा हेतु उपचार (जो ई.सी.एच.एस. के सदस्य नहीं हैं) की गम्भीरता के अनुसार रूपये ज्यादा से ज्यादा 30000/- की आर्थिक सहायता (जो मिलिट्री हास्पीटल की सिफारिश से इलाज करा रहे हैं तथा जिन्हें किसी प्रकार का खर्चा हुआ हेै।

(ड)   पूर्व सैनिक / निर्धन सैनिक विधवा के बच्चों की कक्षा 12 तक की पढाई हेतु पुत्र को 200 व पुत्री को 400 रूपये प्रतिमाह, स्नातक स्तर पर पुत्री हेतु 600 प्रतिमाह तथा डिफेन्स आफिसर ट्रेनिंग हेतु 1000 रूपये प्रतिमाह।

(च)   निर्धन सैनिकों व विधवाओं को रक्षा मंत्री / रक्षा राज्य मंत्री अपने विवेकानुसार एक मुश्त 30000 रूपये तक स्वीकृत कर सकते हैं।

(छ)   ये 10 मई 2007 से देय हैं।

(ज)   केन्द्रीय सैनिक बोर्ड से निर्धन भूतपूर्व सैनिकों / विधवाओं को एक बार में 500 रूपये तथा ज्यादा से ज्यादा 200 रूपये प्रतिमाह तत्काल सहायता ।

रक्षा मंत्री पेंशन अपीलीय समिति

पारिवारिक पेंशन के ऐसे दावे जो अस्वीकृत कर दिए गए हों, जहॉं अपंगता न तो सेना सेवा को आरोपणीय है, न ही सेना सेवा के कारणों से हुई हो, के प्रकरणों पर निम्न अनुदान दिए जाने का प्रावधान है -

(क)   ऐसे पूर्व सैनिक जो 01 जनवरी 1985 से पूर्व भर्ती हुए हों, के तीन बच्चों तक तथा ऐसे व्यक्ति जो 01 जनवरी 1985 या बाद में भर्ती हुए हों, के दो बच्चों तक रूपये 25 प्रतिमाह शिक्षा भत्ता।

(ख)   ऐसे पूर्व सैनिक जिनकी मृत्यु हो गई हो, के माता पिता को एक मुश्त रूपये 2000 का अनुदान।

(ग)   मृतक सैनिक की पत्नी / अपंग सैनिक को एक सिलाई मशीन की कीमत दिए जाने का प्रावधान है।

(घ)   पुत्री की शादी हेतु एक मुश्त रूपये 1000 का अनुदान दिए जाने का प्रावधान है।

आर्थिक सहायता की अपील रक्षा मंत्री अपीलीय समिति से पेंशन दावा अस्वीकृत होने के 6 माह के भीतर किया जाना चाहिए। अपीलीय समिति द्वारा आर्थिक सहायता की अपील पर विचार मेरिट के आधार पर किया जाता है, तत्पश्चात केन्द्रीय सैनिक बोर्ड द्वारा राज्य / जिला सैनिक कल्याण कार्यालय के माध्यम से आर्थिक सहायता का भुगतान किया जाता है।

चिकित्सा सहायता

दिनांक 01 अप्रैल 2006 से सेना के सभी पेंशनर्स को अनिवार्य रूप से ई.सी.एच.एस. का सदस्य बनना आवश्यक है। उक्त तिथि से केन्द्रीय सैनिक बोर्ड द्वारा गंभीर बिमारियों के उपचार हेतु आर्थिक सहायता केवल उन्हीं पूर्व सैनिकों / आश्रितों को अनुमन्य होगी जिन्हें किसी प्रकार की पेंशन प्राप्त नहीं होती है।

अपंग पूर्व सैनिकों का पुनर्वास

अपंग पूर्व सैनिकों के पुनर्वास हेतु केन्द्रीय सैनिक बोर्ड द्वारा निम्न संस्थायें संचालित हैं, जहॉं पर इन्हें व्यवसायिक प्रशिक्षण दिया जाता है -

(क)   क्वींस मैरी टेक्निकल संस्थान, पूना - इस संस्थान में विकलांग सैनिक, पूर्व सैनिकों एवं उनके आश्रितों के पुनर्वास हेतु विभिन्न प्रकार के प्रशिक्षण दिए जाते हैं। सेवारत विकलांग सैनिकों को प्रशिक्षण के दौरान रूपये 1500/- की आर्थिक सहायता, एक नर्सिंग सहायक एवं सफाई वाले की सहायता उपलब्ध है। इसके अरिक्त सभी प्रशिक्षणर्थियों का प्रशिक्षण शुल्क संस्थान वहन करता है।

(ख)   पैराप्लेजिक पुनर्वास केन्द्र, किरकी एवं मोहाली - इन दोनों केन्द्रों में क्रमशः 80 और 30 बिस्तरों की व्यवस्था है। इन संस्थानों में पूर्व सैनिकों की देखभाल हेतु सभी व्यय केन्द्रीय सैनिक बोर्ड द्वारा वहन किया जाता है।

(ग)   सैंट इन्सटन आफ्टर केयर ओैर्गनाईजेशन, देहरादून - इस संस्थान में पूर्ण रूप से दृष्टिहीन पूर्व सैनिकों की देखभाल की जाती है व इन्हें व्यवसायिक प्रशिक्षण दिया जाता है।

(घ)   चेसायर होम्स, दिल्ली, देहरादून, लखनऊ, त्रिवेन्द्रम, वैल्लोर- इन संस्थानों में कोढ से ग्रसित, मानसिक रूप से विकलांग, क्षय रोग से पीड़ित आदि पूर्व सैनिकों की देखभाल की जाती है।

अपंग सैनिकों हेतु मोटराईज्ड ट्राईसाईकिल

केन्द्रीय सैनिक बोर्ड द्वारा 515 आर्मी बेस वर्कशाप से विकलांग पूर्व सैनिकों हेतु मोटराईज्ड ट्राईसाईकिल के परिवहन हेतु भाडा वहन किया जाता है।

टेक्निशियन पूर्व सैनिकों हेतु टूल किट - सशस्त्र सेना झंडा दिवस से टेक्निशियन पूर्व सैनिकों को रूपये 2000/- तक की टूल किट हेतु आर्थिक सहायता प्रदान की जाती है।

 

Back
Nodal Officer : Mrs.Madhu Raghuvanshi (RAS), Dy. Director, Office : 0141-2227897, Mobile : 09829389189
Website Owned By Sainik Welfare Department,GOR | Designed and Developed By NIC, Rajasthan       Best Viewed in Resolution 1024 x 768 Site Last Updated on - 28.03.2017